खास खबर मुंगेर

हत्यारे  भतीजे सहित तीन दोषियों को आजीवन कारावास की सजा,जमीन के एक टुकड़े के विवाद में ,भतीजे ने की थी चाचा की हत्या,अन्य दोषियों में पिता एवं पुत्र भी सजावार, एक आरोपी महिला अब भी है फरार,तीन वर्ष के अंदर ही जिला जज ने सुना दी निर्णय,

511 Views

हत्यारे  भतीजे सहित तीन दोषियों को आजीवन कारावास की सजा,जमीन के एक टुकड़े के विवाद में ,भतीजे ने की थी चाचा की हत्या,अन्य दोषियों में पिता एवं पुत्र भी सजावार, एक आरोपी महिला अब भी है फरार,तीन वर्ष के अंदर ही जिला जज ने सुना दी निर्णय, मुंगेर।तीन वर्ष पूर्व संग्रामपुर में जमीन के एक टुकड़े के लिए भतीजा कृणाल सिंह ने अपने तीन सहयोगियों के साथ मिलकर अपने चाचा जय शंकर सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी ।इस मामले में जिला जज अशोक कुमार पांडेय ने तीन दोषियों  को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। पूर्व में एक आरोपी महिला सिंदु देवी  को न्यायालय फरार घोषित कर चुकी है ।सोमवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश के न्यायालय में सत्रवाद संख्या 275/18 में सजा के बिंदु पर सुनवाई हुई । जिला जज  ने अभियोजन एवं बचाव पक्ष के दलील सुनने के बाद तीन दोषियों को हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई साथ साथ ही साथ पचास -पचास हजार रूपये का अर्थदंड भी लगाया। तीनों आरोपी संग्रामपुर थाना के दुर्गापुर गांव के रहने वाले हैं । अभियोजन पक्ष से अपर लोक अभियोजक मो. शहजादा ने बहस में भाग लिया  ।क्या है मामला : – 15 फरवरी  2018 को संध्या में अपने घर दुर्गापुर गांव से  जय शंकर सिंह अपने मोटरसाइकिल में दूध लादकर गांव के ही सुधा डेयरी में दूध देने को निकले  , बीच रास्ते में ही गांव के चार आरोपियों ने जय शंकर सिंह को रोक कर घेर लिया । फिर आरोपी कुणाल सिंह ( भतीजा ) ने जयशंकर सिंह के सीने में गोली मार दी । फिर जान बचाने के लिए जय शंकर वहां से भागा तो आरोपी छोटू सिंह उर्फ ओम प्रकाश सिंह ने जय शंकर सिंह के पीठ में गोली मार दी । पीठ पर गोली लगने से जय शंकर सिंह सड़क पर गिर गया और घटना स्थल पर उनकी  मौत हो गई ।कौन-कौन हुए सजावार :- जय शंकर सिंह के हत्या मामलें में गांव के ही  कुणाल सिंह, छोटू सिंह उर्फ ओम प्रकाश सिंह एवं राम विलास सिहं को आजीवन कारावास की सजा मिली । इस मामले में मृतक के पत्नी  कंचन देवी के वयान पर  संग्रामपुर थाना में  प्राथमिकी कांड संख्या 34/18 दर्ज हुई थी । कंचन देवी ही घटना की साक्षी थी ।आरोपी महिला फरार :-जय शंकर सिंह के हत्या मामलें में  हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद  सिंदु देवी पति स्व गंगा प्रसाद  फरार है  । इस मामले में न्यायालय ने  सिंदु देवी को 7 मार्च 2019 को फरारी घोषित किया तथा 5 अप्रैल 2019 को  इस वाद से सिंदु देवी को अलग कर विचारणा की कार्यवाही पुरी की। जय शंकर की हत्या मामलें में उसके सगे भतीजा कृणाल सहित अन्य दो दोषियों छोटू  सिंह  एवं राम विलास सिहं को सजा मिली । वे दोनों पुत्र एवं पिता हैं।जमीन के एक टुकड़े के विवाद में चार परिवार हुआ बरबाद :-सिविल मामलें में न्याय मिलने में अत्याधिक विलंब के कारण आम आदमी भी हत्यारे बन जाते हैं और इस विवाद में एक साथ कई परिवार बरबाद हो जाता है । जय शंकर कि हत्या मामलें में  भी ऐसा ही हुआ । सिंदु देवी परिवार छोड़कर फरार है ।  दूसरे परिवार से  पिता एवं पुत्र सजावार हो गये । तीसरे परिवार के घर के मुखिया की हत्या हुई तो चौथे परिवार का कमाने वाले सदस्य को आजीवन कारावास की सजा मिली ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *