खास खबर हवेली खड़गपुर

बालू माफिया के विरुद्ध छापेमारी में एक कारोबारी गिरफ्तार, बालू लदा ट्रैक्टर जप्त,

760 Views

बालू माफिया के विरुद्ध छापेमारी में एक कारोबारी गिरफ्तार, बालू लदा ट्रैक्टर जप्त,
हवेली खड़गपुर।गुप्त सूचना के आधार पर थाना अध्यक्ष नीरज कुमार केे नेतृत्व में बालू माफिया के विरुद्ध थाना क्षेत्र के महाने नदी पर छापेमारी की। बालू लदा एक ट्रैक्टर के साथ कारोबारी को गिरफ्तार कियाा गया। मिली जानकारी के अनुसार बालू माफिया के द्वारा महाने नदी से बड़े पैमाने पर बालू का उठाव किया जाता रहा है। जबकि सरकार के आदेशानुसार नदियोंं से बालूू के खनन एवं बिक्री पर रोक लगा दी गई है। 

कहते हैं पदाधिकारी :- थाना अध्यक्ष नीरज कुमार ने बताया कि  गुप्त सूचना  के आधाार पर  म्हाने नदी पर से बालू उठाव कर माफियाओं के द्वारा बालू ट्रैक्टर में भरकर बेचने के लिए ले जाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि  दल बल के साथ म्हाने नदी का जायजा लेने पहुंचे तो पुलिस की गाड़ी देख जल्दबाजी के चक्कर में ट्रैक्टर चालक  गड्ढे में अपना ट्रैक्टर को फंसा दिया। काफी मशक्कत के बाद जेसीबी  लाकर ट्रैक्टर को खींच कर निकाला  गया। कारोबारी धपड़ी निवासी प्रमोद यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। डिलीवरी ब्वॉय द्वारा बुकिंग के बाद रात के अंधेरे में पहुंचाया जाता है बालू :-सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बालू माफियाओं द्वारा कमीशन पर डिलीवरी ब्वॉय की नियुक्ति की गई है। डिलीवरी ब्वॉय घर घर जाकर बालू का रेट तय कर ऑर्डर लेते हैं और इसकी सूचना कारोबारी को देते हैं। कारोबारी द्वारा रात के अंधेरे में निर्धारित जगह पर बालू पहुंचाया जाता है। इस तरह खड़गपुर में बालू का अवैध कारोबार चरम पर है। नदियों से बालू के खनन पर रोक लग जाने के बाद भी ऊंचे कीमत के लोभ में बालू माफिया द्वारा बालू का कारोबार किया जा रहा है।जारी है अवैध बालू का खनन :-खनन विभाग एवं पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार छापामारी किए जाने के बाद भी क्षेत्र में अवैध बालू का खनन जारी है। दिनभर मजदूरों द्वारा बालू का खनन कर जमा किया जाता है और फिर ट्रैक्टर लगाकर रात के अंधेरे में बालू का उठाव किया जाता है।खनन विभाग के पदाधिकारी भी कर चुके हैं छापामारी :-खनन विभाग के पदाधिकारी रतन साह भी महाने नदी पोकड़ी पुल पर छापामारी कर चुके हैं। छापामारी के दौरान उन्होंने पायाा था कि खनन माफिया पोकड़ी पुल के पास सड़क कटाव के वचाव  के लिए बालू भरे जाने के बहाने से ठेकेदार के मेल में आकर बालू का अवैध खनन कर बोरे में जमा करते हैं और फिर ऑर्डर के अनुसार बाजार में बिक्री करते है। खनन पदाधिकारी रतन साह ने बताया था कि महाने नदी से पोकड़ी जाने के रास्ता में नदी का कटाव हो गया है। ठेकेदार के द्वारा इसी नदी का बालू निकालकर घेराबंदी किया जा रहा है, जो अवैध हो रहा है। यहां से बालू उठाव होने के कारण नदी में कटाव बढ़ता जा रहा है। उन्होंने ठेकेदार के मुंशी को बालू खनन नहीं करने हिदायत दी थी और कहा था नहीं मानने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।कैसे चलता है अवैध बालू का कारोबार :- सूत्रों की माने तो लोहची, धपड़ी मोड़, भमासी पुल पेट्रोल पम्प के नजदीक, अनुमंडल कार्यालय रोड सहित  दर्जनों स्थानों पर बालू का भंडारण किया जाता है और ऊंचे दामों में बेचा जाता है। दूसरी ओर म्हाने नदी तुलसीपुर, धपड़ा, लोहरा, पोकड़ी पुल आदि में बालू माफियाओं द्वारा खनन किया जाता है और रात के अंधेरे में भंडारण के लिए जगह-जगह भेजा जाता अथवा ऊंचे दामों में डिलीवरी बॉय द्वारा ऑर्डर लिए स्थानों पर सीधे बिक्री की जाती है। ग्रामीण सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बालू माफियाओं के द्वारा हर दिन रात में ट्रैक्टर व ऑटो से महाने नदी पुल से बालू का उठाव होता है। ग्रामीण के विरोध करने पर हर दिन मारपीट की नौबत आ जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *