खास खबर मुंगेर

नक्सल गतिविधियों पर नकेल कसने के लिए डीआईजी ने सीआरपीएफ व एसएसबी के अधिकारियों के साथ की बैठक,
नक्सली वर्ष 2005 के बाद अपने सिद्धांतों से भटक गए है, अब ये प्योर क्रिमनल गिरोह है, ये अपराध करते है, रंगदारी वसूलते है, अब इनका कोई उसूल नहीं है : डीआईजी,

502 Views

 नक्सल गतिविधियों पर नकेल कसने के लिए डीआईजी ने सीआरपीएफ व एसएसबी के अधिकारियों के साथ की बैठक,
नक्सली वर्ष 2005 के बाद अपने सिद्धांतों से भटक गए है, अब ये प्योर क्रिमनल गिरोह है, ये अपराध करते है, रंगदारी वसूलते है, अब इनका कोई उसूल नहीं है : डीआईजी, मुंगेर।
 डीआईजी सफीउल हक ने नक्सल एवं नक्सल गतिविधियों पर नकेल कसने के लिए अपने कार्यालय में सीआरपीएफ व एसएसबी के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने सर्वप्रथम सीआरपीएफ व एसएसबी के अधिकारियों से नक्सलियों के बारे में सूचनाओं का आदान प्रदान किया। उसके बाद उन्होंने नक्सलियों को मुख्यधारा में जोड़ने के लिए प्रयास करने के लिए कहा। उन्होंने उन इलाकों में अपने कमजोर पोस्ट व पिकेट को कैसे मजबूत करें इस बात पर मंथन किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 के पहले वे औरतों, बूढ़े, बच्चों पर हमला नहीं करते थे।  वर्ष 2005 के बाद अपने सिद्धांतों से भटक गए है, अब ये प्योर क्रिमनल गिरोह है। ये अपराध करते है, रंगदारी वसूलते है, अब इनका कोई उसूल नहीं है। अब ये हलकान करते है। ऐसे लोगो को मैं मुख्यधारा से जुड़ने के लिए कहूँगा और साथ ही अपने विभाग के लोगों को अपनी खामियों को सुधारने के लिए कहूँगा। उन्होंने कहा कि मैं ये कहूँगा के वे भी हमारे ही लोग है, हमारे देश के नागरिक है। उनकी बातों को सुने उनके साथ न्याय करें, जब उन्हें न्याय मिलेगा तो नक्सल की ओर नहीं जाएंगे। बैठक के बाद उन्होंने मीडिया कर्मियों से बात करते हुए उपरोक्त बातों की जानकारी देते हुए कहा कि मैं उनके हाईड आउट में गया हूँ। उनके हालातों को देखा है। वे काफी दिक्कतों में रहते है। उन्हें मुख्यधारा में जोड़ने के लिए सरकार की सारी लाभकारी योजनाओं को उनतक पहुचाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *