सिनेमा

हीरो राजन कुमार की सच्ची घटना पर बेस्ड फिल्म “लहरिया कट” का टीजर हुआ आउट

920 Views

हीरो राजन कुमार की सच्ची घटना पर बेस्ड फिल्म “लहरिया कट” का टीजर हुआ आउट

हीरो राजन कुमार फिल्मी पर्दे के हीरो होने के साथ एक रियल लाइफ हीरो भी हैं। उन्होंने कई बार अपनी वीरता और इंसानियत का परिचय दिया है। लोगों की जान बचाने की वजह से उन्हें शूरवीर अवॉर्ड जैसे पुरस्कारों से भी नवाजा जा चुका है। राजन कुमार ने एक जख्मी महिला को तुरंत अस्पताल पहुंचाकर और उसकी जान बचाकर युवाओं को सड़क दुर्घटना में जख्मी होने वालों की सहायता करने के लिए प्रेरित किया है और उनके इस नेक कार्य की वज़ह से उन्हें सम्मानित भी किया गया।

सड़क दुर्घटना में जख्मी महिला की जान बचाई थी राजन कुमार ने

मुंगेर की इसी सच्ची घटना पर आधारित एक शॉर्ट फिल्म “लहरिया कट” राजन कुमार ने बनाई है जिसका ट्रेलर आउट हो गया है और इसे यूटयूब पर खूब पसंद किया जा रहा है। राजन कुमार के फैन्स और ऑडिएंस को इस फिल्म का इंतजार है। इस हिंदी शॉर्ट फिल्म का कांसेप्ट राजन कुमार का है जिसमें उन्होंने अभिनय भी किया है।
गौरतलब है कि हमारे देश में मोटर साइकिल से होने वाले हादसों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है और इसमें लहरों की तरह बाइक चलाने वाले जिम्मेदार होते हैं। ऐसे ही बाइकर्स छोटे शहरों में लहरिया कट दिखाने वाले युवा कहलाते हैं जो अपने साथ साथ राहगीरों की जिंदगी भी खतरे में डाल दिया करते हैं। राजन कुमार ने यह शॉर्ट फिल्म लहरिया कट ऐसे ही बाइकर्स को एक मैसेज देने के लिए बनाई है।
आपको बता दें कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा चुके चार्ली चैपलिन 2 के नाम से दुनिया भर में मशहूर राजन कुमार को मुंगेर बिहार के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के हाथों एक बेहद सम्मानित अवॉर्ड “ए गुड समारिटन” से नवाजा गया था।
उल्लेखनीय है कि एक सड़क दुर्घटना मुंगेर बिहार में रहने वाली एक 45 वर्षीय महिला अंजना कुमारी के साथ हुई थी और उनके सर में गहरी चोट आई। उनके सर से खून बह रहा था। ऐसे में हीरो राजन कुमार वहां किसी फरिश्ते की तरह हाज़िर हुए, उन्होंने तमाशबीनों की तरह सिर्फ वो मनज़र नहीं देखा बल्कि तुरंत जख्मी महिला को वाहन के जरिए अस्पताल पहुंचाया और चिकित्सक के द्वारा उनका उचित इलाज करवाया। और इस तरह उस महिला की जान बच गई।
इस फिल्म लहरिया कट में भी यही बताने की कोशिश की गई है कि
किसी हादसे के शिकार इंसान को तुरंत मेडिकल हेल्प मिलनी चाहिए और यह काम लोग बिना किसी भय या बिना किसी सोच के करें।
हिंदी फिल्म नमस्ते बिहार के हीरो के रूप में चर्चा में रहे राजन कुमार के इस हौसले और जज्बे भरे कदम को हम सलाम करते हैं जिन्होंने युवाओं के लिए एक मिसाल पेश की है।
राजन कुमार का कहना है कि बिहार सरकार की ओर से सम्मान मिलना मेरे लिए गर्व की बात रही है। मै तमाम लोगों से अपील करूंगा कि हादसे किसी के साथ भी हो सकते हैं इसलिए हादसे के शिकार लोगों को बचाने, उन्हें अस्पताल पहुंचाने में हिचकिचाएं नहीं बल्कि इसे अपना फर्ज समझ कर पूरा करें।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *