खास खबर मुंगेर

कॉमेडी के बादशाह जगदीप को चार्ली चैपलिन 2 ने  माना प्रेरणा स्रोत, दी श्रद्धांजलि, 

1,170 Views

कॉमेडी के बादशाह जगदीप को चार्ली चैपलिन 2 ने  माना प्रेरणा स्रोत, दी श्रद्धांजलि, मुंगेर।
पीसीएमबी क्लासेस के सभागार में बिहार फिल्म एंड टेलिविजन  आर्टिस्ट एसोसिएशन मुंगेर के तत्वाधान में कॉमेडी के बादशाह जगदीप को श्रद्धांजलि दी गई। पीसीएमबी क्लासेस की निर्देशिका चंद्रमुखी ने कहा कि बॉलीवुड के हास्य कलाकारों में जगदीप को अविस्मरणीय नाम मुंबई फिल्म जगत में यूं तो जॉनी वाकर, महमूद और असरानी की तिकड़ी अपनी निशानी छोड़ती चली गई, पर इनके अलावे जगदीप उर्फ मोहम्मद जाफरी को हिंदी फिल्म के प्रेमी कदापि नहीं भूल सकते। उन्होंने लगभग 400 फिल्मों में काम किया। यह फिल्में भिन्न-भिन्न धीम स्क्रिप्ट और घटनाओं पर आधारित रही यूं तो लोग शोले में उनके सूरमा भोपाली की भूमिका की चर्चा करते नहीं थकते हैं।  अभिनेता साहित्यकार मधुसूदन आत्मीय को उनकी भाभी फिल्म का यह गीत ‘ चली चली रे पतंग मेरी चली रे …..’ प्रसिद्ध अभिनेत्री नंदा के साथ उनके जेहन में उनकी मृत्यु की सूचना मिलते ही दौड़ गई। उन्होंने कहा कि सचमुच उनकी बहु आयामी  ने अपनी अभिनय क्षमता को दर्शाया है। यह ठीक है कि हास्य कलाकार के रूप में उनकी विशेष पहचान रही, पर सह कलाकार एवं अन्य प्रकार की भूमिकाओं में भी उन्होंने अपनी क्षमता समता सिद्ध की है। इनके अलावे कई फिल्मों के हीरो चार्ली चैपलिन 2 राजन कुमार ने उनकी हास्य भूमिका को अविस्मरणीय बताते हुए एक सक्षम कलाकार होने का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि जितने प्रकार का अभिनय उन्होंने किया इससे सिद्ध हुआ कि उनकी बहु आयामी अभिनय क्षमता को फिल्म इंडस्ट्री ने स्वीकार किया है। पीसीएमबी क्लासेस की शिक्षिका तेजस्विनी  ने कहा कि लैला मजनू, गोरा और काला, पुराना मंदिर, खिलौना तथा पुनर्मिलन जैसी पांच दशक पुरानी फिल्मों में काम करते हुए उन्होंने स्वयं को बॉलीवुड में स्थापित किया। यूं तो बाल कलाकार के रूप में उन्होंने फिल्मी कैरियर शुरू किया था और अब से कुछ साल पहले तक लगभग 400 फिल्में में कर के उन्होंने एक रिकॉर्ड बनाया। मौके पर जदयू के बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सह अनुशासन समिति के जिला अध्यक्ष अनिल कुमार यादव, तबला वादक कुणाल किशोर,  बाल कलाकार राजवीर सिंह, नितिन सुकुमार नीरज कुमार एवं अन्य ने उनके तैल चित्र पर पुष्पांजलि कर श्रद्धांजलि दी और 2 मिनट का मौन रखकर ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *