अपराध धरहरा मुंगेर

भाजपा के ओबीसी मोर्चा के प्रखंड अध्यक्ष की गला दबाकर हत्या,

26 Views

भाजपा के ओबीसी मोर्चा के प्रखंड अध्यक्ष की गला दबाकर हत्या,

धरहरा/ मुंंगेर। भाजपा के ओबीसी मोर्चा के प्रखंड अध्यक्ष राजकुमार मंडल की गला दबाकर हत्या मामले में पुलिस ने अबतक प्राथमिकी दर्ज नहीं की है। थानाध्यक्ष रोहित कुमार सिंह ने बताया कि पीड़ित परिवार की ओर से अबतक आवेदन नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि पीड़ित परिवार के आवेदन का इंतजार किया जा रहा है। अगर उनके द्वारा आवेदन नहीं मिलता है, तब पुलिस अपने स्तर से कार्रवाई करेगी। क्या है कारण :-परिजनों की माने तो जमीनी विवाद को लेकर भाजपा नेता की हत्या की गई। घटना के संबंध में मृतक के छोटे पुत्र अमुल अंकुर ने बताया कि मेरे पिताजी कमलदह गांव में  किराना दुकान चलाते थे। रोज शाम 4 बजे प्रतिदिन जाते थे। रात 8 बजे घर लौट आते थे।  माँ उसी गांव के आंगनवाड़ी सेविका है।  शुक्रवार की देर रात जब वह 8 बजे नहीं लौटे तो परिजनों ने उनकी खोजबीन शुरू कर दी। इस दौरान घरवालों ने भाजपा नेता के मोबाईल पर फोन भी किया।  उनका फोन स्वीच ऑफ़ बता रहा था। तब जाकर मृतक के पुत्र उन्हें ढ़ूंढने निकला। खोजने के दौरान पता चला कि उनके पापा का स्कूटी सड़क किनारे पड़ा है और उनके पिता खेत में अधमरा स्थिति में है। पास जाने पर देखा उनके पिता के गला में गमछा  लपेटा हुआ था। जिसके बाद स्कूटी से पिताजी को लेकर सदर अस्तपताल लाया गया। जंहा डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम पश्चात भाजपा नेता का शनिवार को अंतिम संस्कार किया  गया  । भाजपा ने की घटना की निंदा :-भाजपा प्रखंड अध्यक्ष राजेश सिंह राजू ने  भाजित नेता राजकुमार मंडल की हत्या की कड़ी निंदा करते हुए दशरथपुर में शीघ्र पुलिस पिकेट खोले जाने की मांग किया।  उन्होंने कहा कि दशरथपुर से धरहरा एवं लड़ैयाटांड थाना की दूरी सात से आठ किलोमीटर है। जिसके कारण दशरथपुर अपराधियों का सेफ जोन बनता जा रहा है। यहां पर आए दिन अपराधी  अपराध की घटनाओं को अंजाम देने में सफल हो जाते हैं। पुलिस पिकेट की मांग :-अध्यक्ष ने बताया कि स्थानीय ग्रामीणों एवं भाजपाइयों की ओर से दशरथपुर में पुलिस पिकेट की मांग वर्षों से की जा रही है। इसके बावजूद भी पुलिस प्रशासन की ओर से अबतक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि दशरथपुर में पुलिस पिकेट खोले जाने को लेकर उन्होंने वर्तमान मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, शहनवाज हुसैन एवं तत्कालीन डीआईजी मनु महाराज से कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि हमारे ही शासनकाल में हमारे ही साथियों की सरेआम हत्याएं हो रही है। यह कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए कार्यकर्ताओं के बीच पुलिस प्रशासन के विरुद्ध आंदोलन की सुगबुगाहट तेज हो गई है। उन्होंने बताया कि अकेले धरहरा प्रखंड में हाल के दिनों में दो हत्याएं हो चुकी है। इससे पहले बंगलवा सतघरवा निवासी अनुसूचित जनजाति मोर्चा जिलाध्यक्ष दिनेश कोड़ा की अपराधियों ने गला रेत कर निर्मम हत्या कर दी थी। भाजपा नेताओ ने अविलम्ब दशरथपुर मे आवाम की सुरक्षा हेतु पुलिस पिकेट खोलने की माँग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *