खास खबर मुंगेर

डीएम ने की जिला कृषि टास्क फोर्स संग बैठक, 

35 Views

डीएम ने की जिला कृषि टास्क फोर्स संग बैठक, मुंगेर।जिला कृषि टास्क फोर्स की बैठक जिला पदाधिकारी नवीन कुमार की अध्यक्षता में की गयी। कृषि पदाधिकारी सहित संबद्ध विभागों के पदाधिकारी  थे। उर्वरक निगरानी समिति की नियमित रूप से बैठक करने तथा प्रतिवेदन समर्पित करने का निदेश दिया गया और कहा गया कि उर्वरक समिति अपने दायित्वों को नियमानुसार निर्वहन करें। जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि उर्वरक उपलब्धता और आवश्यकता का आकलन कर लें। जिला पदाधिकारी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत लंबित आवेदन को एक सप्ताह में निष्पादित करने का निदेश दिया। जानकारी दी गई कि अब तक 87438 आवेदन प्राप्त किये गये है जिसमें 65905 को स्वीकृत किया गया है। अभी 1.85 लाख जिले में निबंधित किसान है। सभी छुटे हुए योग्य किसानों का पंचातवार सर्वे कराकर सम्मान निधि में लाभ पहुॅचाने का निदेश दिया । बाढ़ से क्षतिगस्त फसल का भी पंचायतवार सूची बनाकर निष्पादित करने का निदेश दिया गया। जैविक कॉरिडोर में किये गये कार्यो की जाँच समीक्षा कर प्रतिवेदन देने का निदेश दिया गया। इस वर्ष भी लाभुकों का चयन नियमानुसार करने का निदेश जिला कृषि पदाधिकारी को दिया गया। जलवायु अनुकूल कृषि कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक ने बताया कि जिले में मिट्टी की गुणवत्ता के आधार पर विभिन्न प्रकार के खेती किये जाते है। किसानों के साथ चौपाल कर उन्हें जागरूक करने का भी निदेश दिया गया। मिट्टी गुणवत्ता और उर्वरा क्षमता के आधार पर मानचित्रण करने का निदेश मिट्टी वैज्ञानिक को दिया गया जिसमें पंचायतवार मिट्टी के प्रकार का विवरण अंकित हो। ड्रीप सिंचाई से लक्ष्य के विरूद्ध काफी कम सिंचित रहने पर स्पष्टीकरण की मांग जिला उद्यान पदाधिकारी से की गयी। 307 एकड़ के विरूद्ध 67.5 एकड़ ही ड्रीप से सिंचित हुई है। उद्यान विकास पदाधिकारी को फलों पपीता, सरीफा तथा क्षेत्र अुनसार फल पौघों का बागवानी करने का निदेश दिया गया। मशरूम एवं मधुमक्खी पालन हेतु क्रमशः कीट एवं हनी बाॅक्स लाभुकों को वितरित किये जाता है। निदेश दिया गया कि इसका फॉलोअप करना सुनिश्चित करें। जिला पशुपालन पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि शत प्रतिशत पशुओं का इयर टैगिंग करें। भ्रमणशील पशु चिकित्सक एवं चलंत वाहन का रोस्टर बनाकर उपचार कराना सुनिश्चित कराने का निदेश जिला पशुपालन पदाधिकारी को दिया गया। किसान क्रेडिट कार्ड के लिए जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, अग्रणी बैंक प्रबंधक लाभुकों से आवेदन प्राप्त करेगे। आत्मा द्वारा विगत 02 वर्ष में दिये गये प्रशिक्षणार्थियों का फीडबैक सूची प्रतिवेदन की मांग संबंधित पदाधिकारी से की गयी। इसके अतिरिक्त कृषि यांत्रिकरण, कृषि इनपुट योजना की भी समीक्षा हुई। बैठक में उप विकास आयुक्त, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी तथा संबंधित पदाधिकारी  थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *