खास खबर झारखंड

बैजनाथ महतो पर हुए जानलेवा हमले में आन्दोलन कर रहे पत्रकारों को एनजेए का समर्थन,
अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग,

38 Views

बैजनाथ महतो पर हुए जानलेवा हमले में आन्दोलन कर रहे पत्रकारों को एनजेए का समर्थन,
अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग,
रांची।रांची के पत्रकार बैजनाथ महतो पर हुए जानलेवा हमले में आन्दोलन कर रहे पत्रकारों को एनजेए ने समर्थन देते हुए हमले में शामिल अभियुक्तों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। सनद रहे कि पांच दिनोंं से रांची प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश सिंह धरने पर बैठे हैं ।

राजेश सिंह  नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन (एनजेए) के राष्ट्रीय संरक्षक भी है । उन्होंने कहा है कि जब तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो जाती, तब तक धरना जारी रहेगा। प्रेस क्लब में अध्यक्ष के साथ अलग-अलग मीडिया हाउस के पत्रकार भी धरने पर बैठे हैं। नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन (एनजेए) ने भी रांची के पत्रकारों को अपना समर्थन दिया है । एनजेए के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता ने कहा कि पत्रकारों पर हमला बर्दास्त नहीं किया जायेगा ,आरोपी की गिरफ्तारी जल्द से जल्द हो । नहीं तो झारखण्ड सरकार एक बड़े पत्रकार आंदोलन के लिए तैयार रहे ।अगर पीड़ित पत्रकारों को न्याय नहीं मिला तो पुरे प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से आंदोलन किया जायेगा ।धरने का पक्ष और विपक्ष के द्वारा भी नैतिक समर्थन दिया गया है।

जिंदगी और मौत के बीच की लड़ाई लड़ रहे हैं बैजनाथ :-गौरतलब है कि रांची सदर थाना क्षेत्र के तिरिल बस्ती में शनिवार की देर रात अज्ञात अपराधियों ने समाचार प्लस के वीडियो जर्नलिस्ट बैजनाथ महतो पर हत्या की नीयत से जानलेवा हमला किया था। बैजनाथ तिरिल तालाब के पास अचेत अवस्था में पड़े हुए थे। देर रात तीन बजे पीसीआर टीम की नजर उन पर पड़ी तो उठाकर रिम्स में भर्ती कराया। उनके गर्दन और सिर पर घातक हथियार से प्रहार के निशान पाए गए हैं। उन्‍हें रिम्स के न्यूरो वार्ड के आइसीयू में भर्ती किया गया है। चिकित्सकों के अनुसार बैजनाथ की स्थिति अभी नाजुक बनी हुई है। बैजनाथ महतो रिम्स में जिंदगी और मौत के बीच की लड़ाई लड़ रहे हैं।रिम्स में भर्ती पत्रकार बैजनाथ महतो जिंदगी और मौत के बीच लड़ रहा है. पुलिस पत्रकार पर करने वाले हमलावर आकाश उर्फ बेंगा को गिरफ्तार करना तो दूर उसका लोकेशन भी नहीं खोज पाई. रांची पुलिस आरोपी को पकड़ने में पूरी तरह से फेल साबित हो गई. अब रांची पुलिस आरोपी तक पहुंचने के लिए लोगों से मदद की अपील की है. पुलिस ने 25 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है.
सूचना देने वालों का नाम रखा जाएगा गुप्त :-पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपी के बारे में सूचना देने वालों का नाम गुप्त रखा जाएगा और उसकी गिरफ्तारी होते हैं इनाम की राशि दे दी जाएगी. रांची पुलिस के अधिकारी इस मामले में घोर लापरवाही कर चुके हैं लेकिन इसके बाद भी अभी तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई. डीजीपी नीरज सिन्हा के आदेश के बाद भी पुलिस की जांच काफी धीमी है । सदर थाना प्रभारी वेंकटेश कुमार इस मामले में अभी तक कोई पूछताछ भी नहीं की गई ।
डीजीपी नीरज सिन्हा ने आदेश पर आईजी कर रहे हैं जांच :-डीजीपी नीरज सिन्हा के आदेश पर इस मामले की जांच आईजी अमोल वेणु कांत कर रहे हैं. डीजीपी ने कहा था  कि इस मामले में जिस पदाधिकारी की लापरवाही सामने आएगी इसमें कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आईजी अब सदर थानेदार वैंक्टेश कुमार की भूमिक की जांच कर रहे हैं ।
रांची के पत्रकार बैजनाथ महतो पर हमला पर नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के मुख्य संरक्षक डॉ जितेंद्र कुमार सिंह ,राष्ट्रीय प्रधान सलाहकार मुकेश कुमार सिंह,उपाध्यक्ष डॉ सुरेश कुमार ,महासचिव संजय कुमार सुमन,  सचिव नीरज कुमार सिंह ,संगठन सचिव अभिषेक कुमार श्रीवास्तव ,राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अशोक कुमार सिंह,प्रवक्ता रंजीत कुमार विद्यार्थी ,कोषाध्यक्ष अरविंद पाठक , सदस्य दीनबंधु सिंह ,संजीव कुमार गुप्ता,संजय विजित्वर,प्रदेश अध्यक्ष बिहार अबोध ठाकुर वरीय उपाध्यक्ष चन्दन कुमार झा ,बिहार प्रदेश महिला की अध्यक्षा पूजा मिश्रा समेत सभी पत्रकारों ने इस घटने का तीव्र भर्त्सना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *