खास खबर मुंगेर

विद्युत आपूर्ति के लिए आंदोलन का हुआ असर : डीएम ने दिए खड़गपुर में कैंप कर तीन दिनों में विद्युत आपूर्ति को सुगम बनाने का निदेश,डीएम ने की जल जीवन हरियाली तथा सात निश्चय अन्तर्गत विभिन्न योजनाओं की समीक्षा, दिए कई निदेश,
बुडको कर रही है टावर लगाना, पाइप लाइन बिछाना तथा घरेलू कनेक्शन कार्य,

583 Views

विद्युत आपूर्ति के लिए आंदोलन का हुआ असर : डीएम ने दिए खड़गपुर में कैंप कर तीन दिनों में विद्युत आपूर्ति को सुगम बनाने का निदेश,डीएम ने की जल जीवन हरियाली तथा सात निश्चय अन्तर्गत विभिन्न योजनाओं की समीक्षा, दिए कई निदेश,
बुडको कर रही है टावर लगाना, पाइप लाइन बिछाना तथा घरेलू कनेक्शन कार्य,

मुंगेर। संग्रहालय सभागार में जल जीवन हरियाली तथा सात निश्चय अन्तर्गत विभिन्न योजनाओं की समीक्षा जिला पदाधिकारी नवीन कुमार द्वारा किया गया। सार्वजनिक जल निकाय की भौतिक स्थिति का निरीक्षण के लिए अभी भी 79 शेष है। अतिक्रमित जल निकाय संरचना में कुल 79 अतिक्रमित जल निकाय में से 57 निकाय को अतिक्रमण मुक्त कर लिया गया है। शेष को अविलंब अतिक्रमण मुक्त की कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। 5 एकड़ तक के तालाबों के जीर्णाेद्धार कार्य में 15 दिनों में कार्य समाप्त करने का निदेश दिया गया। जिला पदाधिकारी ने कहा कि निजी पोखरा के संबंध में अंचलाधिकारी से भौतिक सत्यापन कराकर प्रतिवेदन अवश्य प्राप्त करे। तालाब की जीर्णोद्धार में इस बात का विशेष ध्यान दे कि आस पास के पानी तालाब में सुगमता से पहुंच सके। आस पास के लो लैंड में ह्यूम पाईप लगाकर तालाब में इनलेट बनाये। बुडको द्वारा तीन प्रकार के कार्य किये जा रहे है। टावर लगाना, पाइप लाइन बिछाना तथा घरेलू कनेक्शन करना। उक्त तीनों कामों को तेजी से करके समय पर पूर्ण करने का निदेश दिया गया। इस संबंध में साप्ताहिक प्रगति प्रतिवेदन उपलब्ध करायेगे। 5 एकड़ से अधिक क्षेत्र वाले तालाबों का जीर्णोद्धार कार्य लघु सिंचाई द्वारा किया जा रहा है। जिला पदाधिकारी ने निदेश दिया कि प्रत्येक चरण में कार्य प्रगति का जीयोटैग अवश्य कराये। कार्य के आरंभ, कार्य के मध्य तथा कार्य समाप्ति के उपरांत जियोटैग कराये। अहर एवं पईन के निर्माण कार्य को तेजी से करने का निदेश दिया गया। कुओं के जीर्णोद्धार हेतु पीएचईडी सहायक अभियंता को निदेश दिया गया कि शेष 02 पंचायत जहाँ कार्य नहीं हुआ है तथा डीफंक चापाकल की सूची उप विकास आयुक्त को उपलब्ध कराये। निदेश दिया गया कि 02-03 कुओं का भौतिक निरीक्षण कार्यपालक पदाधिकारी अपने स्तर से कर लेगे। पंचायती राज विभाग अंतर्गत इस माह के अन्त तक 03 कुओं का जीर्णोद्धार का लक्ष्य सभी पंचायतों को दिया गया। हर घर नल का जल, सोख्ता निर्माण, पंचायत सरकार भवन, कुआं का जीर्णोद्धार, नली गली योजना आदि का सतत माॅनिटेरिंग करने का निदेश जिला पंचायती राज पदाधिकारी को दिया गया। उन्होंने निदेश दिया कि डुप्लीकेट इंट्री को डिलिट करते हुए जल जीवन के पोर्टल पर पूर्ण कार्यो को प्राथमिकता के साथ अपलोड करे। खेत पोखरी योजना अन्तर्गत मत्स्य, कृषि एवं मनरेगा द्वारा अलग अलग कार्य किये जा रहे है। इस योजना अन्तर्गत निजी खेतों में सरकार द्वारा निःशुल्क पोखर निर्माण किया जाता है जिसे किसान को कई फायदे मिलते है। पौधारोपण अन्तर्गत मनरेगा द्वारा   1.55 लाख जबकि जीविका द्वारा 02 लाख से अधिक पौधे लगाया जा चुका है और अधिक पौधे लगाने का निदेश दिया गया। उन्होंने सभी प्रखंडों में निर्धारित तिथि पर 01-01 हजार पौधे लगाने का निदेश दिया। जैविक खेती अन्तर्गत जिले में 25 एकड़ में खेती की जा रही है। जिसका भौतिक रूप से निरीक्षण करने का निदेश दिया गया। विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता को निदेश दिया गया कि बिजली संकट के निवारण हेतु तत्र्पर रहे। खड़गपुर में बिजली के लिए परेशान जनता के संदर्भ में उन्होंने निदेश दिया कि खड़गपुर में कैंप कर तीन दिनों में विद्युत आपूर्ति को सुगम बनाये। स्मार्ट मीटर को लेकर लोगों में जागरूकता संदेश का प्रचार प्रसार कराये। बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, स्वयं सहायता भत्ता योजना एवं कुशल युवा कार्यक्रम में स्वीकृत आवेदकों के बीच राशि वितरण कार्य में तेजी लाने का निदेश दिया गया। विकास मित्रों के माध्यम से जागरूकता का प्रसार तथा रोजगार के लिए युवाओं को प्रेरित करने हेतु नियोजन पदाधिकारी को परिचर्चा कराने का निदेश दिया गया। विगत 02 वर्षो में नियोजन कार्यालय से कितना रोजगार सृजित हुआ। इस संबंध में रोजगार प्राप्त विद्यार्थी का सूची उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। पंचायत के कनीय अभियंता क्षेत्र भ्रमण करेगे तथा 15 दिनों में जहां विद्युत कनेक्शन नहीं है। वहाॅ कनेक्शन सुनिश्चित करायेगे। जिला पदाधिकारी ने कहा कि सरकार का प्रमुख ध्येय है कि हर घर को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराये। उन्होंने फिर दोहराया कि पानी टंकी में रेलिंग, उसका रंग रोगन, अनुरक्षण, कनीय अभियंता, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी का नाम मोबाइल के साथ स्पष्ट रूप से अंकित करे। जमालपुर नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि जमालपुर शहर में सतत रूप से अतिक्रमण हटाने का कार्य करें तथा स्ट्रीट लाइट का सत्यापन करा ले। जिला पदाधिकारी ने एक बार फिर कहा कि जनता दरबार में आये फरियादियों की शिकायत ससम्मान एवं धैर्य के साथ सुने तथा उनके समस्या का निराकरण करे। बैठक में अपर समाहर्ता श्री विद्यानंद सिंह, उप विकास आयुक्त श्री संजय कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, पीएचईडी कार्यपालक अभियंता, सभी कार्यपालक पदाधिकारी थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *