अपराध हवेली खड़गपुर

हथियार तस्करी के अंतरजिला व अंतरराज्यीय नेटवर्क को संचालित करने वाले सौरव गिरफ्तार,

214 Views

अवैध मिनी गन फैक्ट्री का भंडाफोड़, भारी संख्या में हथियार बरामद,हथियार तस्करी के अंतरजिला व अंतरराज्यीय नेटवर्क को संचालित करने वाले सौरव गिरफ्तार,
अवैध मिनी गन फैक्ट्री संचालित होने की खबर पर  एसपी लिपि सिंह ने स्वयं की छापामारी,85 हजार नगदी के साथ राइफल, कार्बाइन, रिवाल्वर, पिस्टल, कट्टा सहित दर्जनों हथियार बरामद ,

हवेली खड़गपुर। पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के नेतृत्व में की गई कार्रवाई के दौरान हवेली खड़गपुर में अवैध मिनी गन फैक्ट्री का उद्भेदन किया गया।  थाना क्षेत्र अंतर्गत मुढेरी गांव में अवैध मिनी गन फैक्ट्री संचालित किए जाने की सूचना पुलिस अधीक्षक को मिली थी। उन्होंने स्वयं छापामारी कर अवैध हथियार बनाने और तस्करी के रैकेट का उद्भेदन किया। उन्होंने बताया कि छापामारी में हथियार तस्कर गिरोह का खुलासा हुआ है। उन्होंने बताया कि मुढेरी गांव में कार्रवाई की गई।  छापामारी के दौरान नाइन एमएम की एक कार्बाइन, 0.22 बोर की एक राइफल, एक रिवाल्वर, 10 देसी कट्टा, 7.65 एमएम की एक पिस्टल, तीन अर्द्ध निर्मित राइफल, चार अर्धनिर्मित कार्बाइन, एक अर्ध निर्मित देसी कट्टा, दो अर्ध निर्मित पिस्टल बरामद किया गया। इसके अलावा तीन बेस मशीन, दो ड्रिल मशीन, एक छोटा वेल्डिंग मशीन, तीन हैंड मशीन, आठ रेती बरामद किया गया। कार्बाइन की 12 मैगजीन बरामद की गई तथा कार्बाइन में इस्तेमाल होने वाले कई स्प्रिंग भी बरामद किया गया है।पूरे परिवार की है अवैध हथियार बनाने में संलिप्तता :- एसपी सिंह ने बताया कि पुलिस की कार्रवाई के दौरान हथियार तस्करी के अंतरजिला और अंतरराज्यीय नेटवर्क को संचालित करने वाले सौरव को गिरफ्तार किया गया। उसके भाई सुस्मित साह, और पिता सुधीर साह की भी गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने बताया कि सौरव का पूरा परिवार अवैध हथियार बनाने और उसे दूसरे जिलों के अलावा दूसरे राज्यों को बेचने के रैकेट में शामिल था। हथियारों को बिहार के दूसरे जिलों के अलावा झारखंड, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में भी बेचा जा रहा था।गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने की पूरी रात हुई रेकी :-
पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मुढेरी गांव में अवैध मिनी गन फैक्ट्री संचालित किए जाने की सूचना मिली थी। इसके बाद जिला आसूचना इकाई को रेकी के काम में लगाया गया। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हवेली खड़गपुर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया था। जिला आसूचना इकाई की टीम रात से ही रेकी कर रही थी और पूरी मुकम्मल जानकारी मिलने के बाद उन्होंने स्वयं छापामारी दल का नेतृत्व करने का निर्णय लिया और छापेमारी की। 
 छापेमारी दल में कौन कौन थे शामिल :- पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि उनके अलावा एसडीपीओ संजय कुमार पांडे, खड़गपुर थानाध्यक्ष मिंटू सिंह, गंगटा थानाध्यक्ष मजहर मकबूल, संग्रामपुर थानाध्यक्ष सर्वजीत कुमार, असरगंज थानाध्यक्ष स्वयंप्रभा, तारापुर थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार शामिल थे। पुलिस की कार्रवाई लगभग 4 घंटे तक चली।घर के अंदर बना था गोदाम :-
उन्होंने बताया कि सौरव कारीगरों की मदद से हथियार बनाता था और उसका परिवार हथियार बेचने का काम करता था। दूसरे जगह से कारीगरों को बुलाकर हथियार बनाया जाता था और घर के अंदर ही अवैध हथियारों को डंप किया गया था। पुलिस ने पूछताछ के लिए जब उसे हिरासत में लिया तो उसने काफी देर तक पुलिस को दिग्भ्रमित किया। हालांकि सटीक सूचना के बाद हुई छापामारी में सभी हथियारों को बरामद कर लिया गया है। गिरफ्तार सौरव साह ने स्वीकार किया है उसने कई जिलों में और दूसरे राज्यों में हथियारों की आपूर्ति की थी।
कार्बाइन बनाने में माहिर है सौरव :-उन्होंने यह भी बताया कि गिरफ्तार सौरव साह कार्बाइन बनाने और उसे दूसरे राज्यों में बेचने में माहिर है। उसेक घर से कार्बाइन बनाने में इस्तेमाल होने वाले सामान भारी तादाद में बरामद हो हुए हैं। इनके अलावा राइफल तथा और देसी कट्टा बनाने का काम भी बड़े पैमाने पर संचालित किया जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat