खास खबर हवेली खड़गपुर

प्रताड़ना के विरुद्ध व्यवसायिक संघ ने   दुकान बंद रखकर दिया धरना,

398 Views
प्रताड़ना के विरुद्ध व्यवसायिक संघ ने दुकान बंद रखकर दिया धरना,
हवेली खड़गपुर ।
प्रताड़ना के विरुद्ध व्यवसायिक संघ ने अपनी अपनी दुकाने बंद रखकर गोपालनी सभा के मंत्री के विरोध धरना एक दिवसीय धरना का आयोजन किया। धरना की अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष बजरंग लाल साहा ने किया। संचालन सचिव शंभू केसरी कर रहे थे। अध्यक्ष बजरंगलाल लाल साह ने कहा कि प्रबंधक कमेटी के पदाधिकारियों से दुकानदार त्राहिमाम हो गया है। वर्तमान मंत्री योगेश्वर गोस्वामी पाला बदल बदल कर 20 वर्षों से उपाध्यक्ष के पद पर था। आज वर्तमान चुनाव प्रक्रिया के बाद पिछले दरवाजा से मंत्री बन गया है । बदले की भावना से व्यवसायियों को प्रताड़ित कर रहे हैं । सचिव शंभू केसरी ने कहा कि इनके द्वारा किए गए इकरारनामा में हर 3 साल पर 10% भााड़ा बृध्दि को स्वयं नहीं मान रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपिन साह से किराया के मध्य में जमाते 33 हजार 280 रुपये आज तक रसीद नहीं दे रहा है। बद्री गोस्वामी ने कहा कि आज से पहले गौशाला का बेहतर स्थिति था। आमदनी का जरिया कम था। आज लाखों रुपया गौशाला मार्केट से किराया मध्य में आता है। गौमाता बाजार में भटकती है। गौशाला अपने उद्देश्य से भटक गया है। उन्होंने बड़े अधिकारी से प्रबंधक कमेटी को भंग करने की मांग किया। चेंबर ऑफ कॉमर्स के आपात चेयरमैन संजीव कुमार ने कहा कि व्यवसायियों को प्रताड़ित करना कानूनी जुर्म है । मकान मालिक और किराएदार सड़क पर उतर जाना शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि गौशाला प्रबंधक कमेटी कार्यकारिणी के सदस्य अपने लाभ हेतु यहां के दुकानदारों का 10 गुना अप्रत्याशित किराया की बृद्धि करवाया है। उन्होंने कहा कि इसी शहर में नगर पंचायत वक्फ बोर्ड आदि संस्थाओं का भी मकान किराए पर लगा हुआ है। उसके किराए की स्थिति को भी जानना चाहिए। गोपी कुमार ने कहा कि दुकानदारों को रोजी रोटी पर कमेटी आफत कर दिया है। घनश्याम कुमार सुधांशु ने कहा कि गौशाला की आड़ में भ्रष्टाचार चरम पर चल रहा है। ललन कुमार ने कहा कि गौशाला मार्केट बिहार में विभिन्न शहर में है ।वहां की दुकानदारों की भी तुलना किराया का मंत्री को करना चाहिए। उत्तम केसरी ने कहा कि गौशाला सार्वजनिक संस्था है परंतु आज भी राजतंत्र चल रहा है। रवीश टिवङेवाल ने कहा कि प्रबंधक कमेटी के मानसिक प्रताड़ना एवं छोटे भैया नेता से दुकानदार परेशान हो रहा है ।समस्या का निराकरण नहीं हुआ तो चरणबद्ध आंदोलन करना पड़ेगा ।बबलू विश्वकर्मा ने कहा कि प्रबंधक कमेटी अंदर ही अंदर दुकानदार को प्रताड़ित किया जा रहा है। दुकानदार पर भाड़ा नहीं दिए जाने का झूठा मुकदमा न्यायालय में कर रहे हैं। संस्था का नाजायज खर्च न्यायालय के भागदौड़ में किया जा रहा है, जो जांच का विषय है। शंकर मिश्रा ने कहा कि किराया वृद्धि मामला गंभीर होता जा रहा है ।पूर्व प्रमुख अरविंद कुमार ने कहा कि संस्था के शीर्ष पद पर बैठे हुए अधिकारी के द्वारा दिशा और दशा तय किया जाता है। व्यवस्था को बदलने के लिए जन आंदोलन की आवश्यकता पड़ती है परंतु भ्रष्टाचार में व्यक्ति को कोई फर्क नहीं पड़ता है। इस अवसर पर दर्जनों व्यवसायियों ने अपनी समस्या को रखा। इस उपलक्ष पर 4 दर्जन से अधिक व्यवसायियों ने शिरकत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat