Uncategorized मुंगेर

मुंगेर में मौसम विभाग ने किया जारी रेड अलर्ट,  जिला पदाधिकारी ने दिए सभी शिक्षण संस्थान बंद करने का आदेश, मुंगेर में खतरे के निशान 39.55 मीटर पर बह रही है गंगा, 1122 विस्थापित परिवार में 5610 लोग रह रहे है बिभिन्न कैंपो में,

1,282 Views
मुंगेर में मौसम विभाग ने किया जारी रेड अलर्ट,
जिला पदाधिकारी ने दिए सभी शिक्षण संस्थान बंद करने का आदेश,
मुंगेर में खतरे के निशान 39.55 मीटर पर बह रही है गंगा,
1122 विस्थापित परिवार में 5610 लोग रह रहे है बिभिन्न कैंपो में,
मुंगेर ।
लगातर हो रही बारिश को देखते हुए मुंगेर में मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है मौसम विभाग द्वारा रेड अलर्ट जारी किया जाने को ध्यान में रखते हुए मुंगेर के जिला पदाधिकारी राजेश मीणा ने प्रेस बयान जारी कर अगले 2 दिनों के लिए सभी सरकारी गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं को बंद करने का आदेश दिया है साथ ही आम लोगों से अपने अपने घरों में रहने की अपील की गई है जिला पदाधिकारी श्री मीणा ने बताया कि मुंगेर में खतरे के निशान से गंगा का पानी ऊपर बह रही है। आज पानी का बहाव 39.55 मीटर पर दर्ज की गई है। सबसे अधिक बरियारपुर प्रखंड बाढ़ से प्रभावित है । 6 रिलीफ कैम्प बनाए गए है। 1122 विस्थापित परिवार में 5610 लोग बिभिन्न कैंपो में रह रहे है और अबतक 7650 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए है। किसी आपदा से निपटने के लिए एनडीआरएफ तैयार है। उन्होंने कहा कि विस्थापितों को भोजन की कमी ना हो इसके लिए सभी बीडीओ, एसडीओ को निर्देश दिया गया है कि कम्युनिटी किचन की व्यवस्था कर बाढ़ पीड़ितों को भोजन कराई जाए।

सनद रहे कि जिले में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से उपर बाढ़ का पानी है। जिले के मुंगेर सदर, बरियारपुर , जमालपुर हवेली खड़गपुर के दर्जनों गांव में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है । दियारा क्षेत्र के लोग सुरक्षित स्थान की ओर पलायन कर गए हैं। सैकड़ों घरों में चूल्हा जलना बंद हो गया है। कई स्थानों पर सड़क संपर्क भंग हो गया है । खतरे के निशान के ऊपर गंगा का जलस्तर देखा गया । टिकारामपुर , कुतलूपुर, हरिणमार पंचायत, मनियारचक में दर्जनों परिवार के घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। इसमें इन लोगों के घरों का चुला तक पानी में डूब चुका है। इस कारण इन लोगों को भोजन पकाना तो दूर घर में उठना बैठना भी मुश्किल हो गया है । अधिकतर लोग अपने घर द्वार छोड़कर सरकारी विद्यालय व अन्य भवनों में शरण ले रहे हैं। लोग अपने परिजनों के साथ साथ घर के अनाज और कीमती सामान को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने मे लगे हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *