मुंगेर

2 अक्टूबर से बिहार में जल जीवन हरियाली कार्यक्रम की होगी शुरुआत : मुख्यमंत्री, मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ने मुंंगेर वासियोंं को 178 करोड़ की विकास योजनाओ का दिया उपहार, 105 करोड़ो की लागत से बनेगा बिहार का पहला वाणिकी महाविधायलय, 73 करोड़ की लागत से बनेगा इंजनियरिंग महाविधालय,

663 Views
2 अक्टूबर से बिहार में जल जीवन हरियाली कार्यक्रम की होगी शुरुआत : मुख्यमंत्री,
मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ने मुंंगेर वासियोंं को 178 करोड़ की विकास योजनाओ का दिया उपहार,
105 करोड़ो की लागत से बनेगा बिहार का पहला वाणिकी महाविधायलय,
73 करोड़ की लागत से बनेगा इंजनियरिंग महाविधालय,
मुंगेर ।
“देश में पर्यावरण संकट गहरा रहा है ।
पर्यावरण को बचाने के लिए गांंधी जयन्ती के अवसर पर 2 ऑक्टूबर से बिहार में जल जीवन हरियाली कार्यक्रम को लागू करने जा रहेे हैं और इसकी शुरुआत जिले से पंचायत तक की जाएगी ।” उपरोक्त बातें सुबह के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कही। वे मुंगेर के पोलो मैदान में आमसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने 105 करोड़ो की लागत से बनने बिहार का पहला वाणिकी महाविधायलय व
73 करोड़ की लागत से बनने वाला इंजनियरिंग महाविधालय का शिलान्यास रिमोट कंट्रोल से किया।
बिहार में वर्ष 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले चुनावी सगूफा के तहत बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ने मुंंगेर वासियोंं को रिझाने के लिए 178 करोड़ की विकास योजनाओ को मुंंगेर के पोलो मैदान से हरी झंडी दिखाई है या यू कह कि मुंंगेर किला परिसर स्थित पोलो ग्रॉउंड में रिमोट का बटन दबाकर 43.8 एकड़ में 105 करोड़ में वाणिकी महाविधायलय, 73.13 करोड़ की लागत से बनने वाले अभियन्त्र महाविधालय का आधार शिला रखा है। साथ ही उसका कार्यारम्भ भी कर दिया है ।
इन दिनों महाविधालय निर्माण मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कृषि विज्ञान केन्द्र के कैम्पस के अन्दर करवाया जा रहा है । 105 करोड़ की लागत से बनने वाले वाणिकी महाविधालय में एकैडमी एवं प्रशासनिक भवनों के अलावा 300 लोगो की क्षमता वाला ऑडिटोरियम, 170 लोगो की क्षमता वाला बॉयस हॉस्पिटल, 600 लोगो की क्षमता वाला गर्ल हॉस्टल, 30 लोगो की क्षमता वाला किसान हॉस्टल, 6 कमरों वाला गेस्ट हाउस रूम आदि होगा । वही 10 एकड़ में 73 करोड़ 13 लाख से बनने वाले राजकीय अभियन्त्र महाविधालय में शैक्षणिक सह प्रशासनिक भवन के अलावा दो सौ सैय्या वाला दो लड़को बेड वाला छात्रवास, एक सैय्या सिंगल बेड वाला बालिका छात्रावास के साथ शिक्षकोंं एवं कर्मियों का आवास भी होगा । इस अभियन्त्र महाविधालय में तीन डिग्री स्तरीय अभियन्त्र पाठ्क्रम तथा सिविल इंजनियरिंग के लिए 120 सीटों एलेक्ट्रिकल इंजनियरिंग के लिए 60 सीट एवं मैकनिकल इंजीनियरिंग के लिए 60 सीटों विषयो में पठन पठान की वयवस्था की गई है । इन दोनों विधालय को डेढ़ वर्षो में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है । इन दिनों महाविधालय निर्माण बिहार सरकार के सात निश्चय कार्यकर्म के तहत की जा रही है । इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, विज्ञान एवंं प्रौद्योगिकी मंत्री जय कुमार सिंह, ग्रामीण कार्य विभाग मंत्री शैलेश कुमार, मुंगेर के सांसद राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह , विभिन्न विभागों के सचिव सहित गणमान्य लोग थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *